चारण शक्ति

Welcome to चारण शक्ति

समाचार और कार्यक्रम

पूरा नाम केसरीसिंह बारहठ माता पिता का नाम पिता – कृष्णसिंहजी बारहठ जन्म व जन्म भूमि 21 नवम्बर, 1872, देवखेड़ा, शाहपुरा, राजस्थान स्वर्गवास 14 अगस्त, 1941 अन्य संतान- प्रतापसिंह बारहठ प्रसिद्धि- कवि तथा स्वतन्त्रता सेनानी  जीवन परिचय जिन लोगों ने समाज और राष्ट्र की सेवा में अपना सर्वस्व ही समर्पित कर डाला हो, ऐसे ही […]

जम्बूद्वीप विस्तार एवम् सभ्यताएँ 1. एशिया-यूरोप का भेद- विश्व पटल पर वर्तमान भारत, एशिया महाद्वीप का दक्षिण में निकला हुआ एक भाग है, जैसा ही यूरोप इस एशिया महाद्वीप का पश्चिम में निकला हुआ एक भाग है और दोनों का क्षेत्रफल भी समान है। महाद्वीप की परिभाषा में पृथ्वी का वह विशाल भूभाग जिसके चारों […]

 जन्म संवत 1515 श्रावण शुक्ल बीज को प्रातः काल में माता पिता माता का नाम अमरबाई गाडण व पिता सुराजी रोहड़िया शाखा के चारण थे जन्म स्थान भादरेस, बाडमेर राजस्थान विवाह संवत 1532 कार्तिक शुक्ल ग्यारस (देवउठनी ग्यारस) के दिन झांफली गाँव के भेरुदानजी झीबा की सुपुत्री देवलबाई के साथ ईश्वरदास जी का विवाह हुआ […]

चारणों के पर्याय-नाम और उनका अर्थ चारण जाति के जितने पर्यायवाची नाम अद्यावधि हमको मिले, वे नीचे लिख कर उनका धात्वर्थ और व्यत्पत्ति सहित, भाषा में अर्थ लिख दिया गया है कि जिनके समझने में सर्व-साधारण को सुविधा रहे। ये शब्द, प्रथम संस्कृत में थे परन्तु फिर प्राकृत में पड़ कर देश-भाषा में रूपान्तरित हो […]

चारणों की उत्पत्ति के सन्दर्भ में ठा. कृष्णसिंह बारहट ने अपने खोज ग्रन्थ “चारण कुल प्रकाश” में विस्तार से प्रामाणिक सामग्री के साथ लिखा है। उसी से उद्धृत कुछ प्रमाणों को यहाँ बताया जा रहा है। ये तथ्य हमारे प्राचीनतम ग्रंथों श्रीमद्भागवत्, वाल्मीकि – रामायण तथा महाभारत से लिए गए हैं। चारणों की उत्पत्ति सृष्टि-श्रजन काल से है […]

शिक्षित और स्वावलंबी मानव समाज के स्वप्नदृष्टा श्री पालुभाई गढवी (भजनानंदी) सेवा समर्पन और सत्य वकता का लोक मुख से परिचय    ● मांडवी के मिट्टी की महेक, शरीर से, स्वभाव से मूल गुजराती व्यक्ति श्रीपालुभाई वीरमभाई गढ़वी का जन्म 20 जुलाई 1975 के दिन गुजरात के कच्छ जिल्ला के मांडवी तहसील के बड़े भाड़िया […]

Notice Board

  • चारणो के गांव शाखा वार लिस्ट
  • चारण समाज निर्देशिका
  • चारण कवियों के परिचय
  • चारण साहित्यकार

Recent Posts

Categories

Categories

error: Content is protected !!
चारण शक्ति